फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..

आवंला और शहद का ये उपाय आपको हर गंभीर बीमारी से रखेगा दूर, जाने कैसे

आयुर्वेद अनुसार कुछ प्रयोग ऐसे हैं की जिनसे नवजीवन समान प्रभाव पड़ता है  कुछ ऐसा ही प्रयोग है इन आंवलो और शहद का. जिसके इस्तमाल से आपका शरीर एक दम फिट और उर्जा से ओत प्रोत हो जायेगा. अगर आप आंवला और शहद के प्रयोग की है अगर आप भी भरपूर फायदा उठाना चाहते हो तो निम्नलिखित विधि को पढ़े और इस्तमाल करें।

विधि 

हरे आंवलों को कुचलकर या कद्दुकस कर कपड़े से छानकर आंवलों का रस निकाल लें। ततपश्चात 15 ग्राम ( तीन छोटे चम्मच ) हरे आंवलों के रस में 15 ग्राम शहद मिलाकर प्रात: व्यायाम के बाद पी लें। इसके पश्चात दो घंटे तक कुछ न लें। हरे आंवलों के मौसम में निरंतर डेढ़-दो मास इसे लेते रहने से काया पलट जाती है। सभी रोगो से बचे रहने के इच्छुक लोंगो के लिए यह एक श्रेष्ठ योग है और कायाकल्प के समकक्ष है।

स्वास्थ लाभ और परहेज

1. इसके सेवन से वीर्य विकार नष्ट होते है। प्रमेह एवं मूत्र-ग़ड़बड़ी ठीक होती है। पेशाब में धातु जाने का रोग अच्छा होता है। वीर्य पुष्ट और वीर्य के विकार नष्ट करने वाली इसके बराबर शायद ही कोई दूसरी ओषधि हो।

2. इससे आमाशय को बल मिलता है और शरीर में नए रक्त का निमर्ण होता है।

3. सवन-काल में ब्र्म्ह्चर्य पालन करें और तेल, मिर्च, खटाई, गरिष्ट और तले पदार्थो से परहेज करें।

4. सोम रोग की शिकार महिलाएं जिनकी पेशाब रोकने की शक्मता के क्षय हो जाने से चेहरा बिलकुल निस्तेज हो गया हो और मूत्रस्त्रव बहुत अधिक होता हो, इस प्रयोग से उनका सोम रोग नष्ट होकर सौंदर्य लूट आता है।

5. मासिक धर्म की अवधि में अमियमित्ता और मासिक धर्म की गड़बड़ियों में डॉकटरो के पास भागने से पहले आज इसे आजमा कर देंखे तो नब्बे प्रतिशत मामलों में यह प्रयोग प्रणाली को स्वाभिक दशा में ले आता है।

6. सिरदर्द, नेत्ररोग आदि अनेकानेक रोगो से छुटकारा प्राप्त होकर नवजीवन प्राप्त होता है।

7. उपरोक्त प्रयोग के साथ यदि आंवलों या त्रिफला जल से आँखों को धोते रहने से मोतियाबिंद को आराम मिलता है।

8. ताजे आंवले को चबाने से मुख की गर्मी शांत होती है, आँखे स्वस्थ रहती है, कब्ज दूर रहती है, दिल और दिमाग की शक्ति बढ़ती है व चेहरे पर नई रौनक आती है। एक ताजा आंवले में नारंगी की अपेक्षा बीस गुना विटामिन ‘सी’ होता है।

9. महर्षि चरक का मत है की जगत में जितनी भी रसायन औषधियां है उन सबमे आंवला उत्कृष्ट है, क्योंकि इसमें जितने रोग निवारक, रक्तशोधक और आरोग्यवर्धक गुण है, उतने किसी अन्य वस्तु में नही।

कृपया इस जानकारी को शेयर जरुर करे

Health टिप्स ‪#‎फेसबुक‬ पर पाने के लिए नीचे दिए हुए Group 👏🙏👏को ‪#‎Join‬👉 करें https://www.facebook.com/group/ayurvedictips

फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..