फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..

अद्भुत तेल इससे सभी दर्द, मौच, वात-विकार, पक्षाघात, चोट, सूजन आदि को ठीक करने के चमत्कारिक गुण।

★ सामग्री :
लाल मिर्च 60 ग्राम और 1 किलो सरसों तेल।

★ औषधी इस प्रकार तैयार करें :
जल के साथ लाल मिर्ची को बारीक पीसकर उसे 8-10 टिकियाँ बना लेंना है , फिर 1 किलो तेल को अग्नि पर चढ़ाकर गर्म करें। जब तेल उबलना शुरू हो जाये तब उसमें इन टिकियों को डाल दें , जब भली-भॉती टिकियाँ पक जाए तब आग से उतार लें। अब एक पौनी या चिमटे या चम्मच के सहारे सारी टिकियाँ निकाल लें , तेल जब ठण्डा हो जाए तब उसे छानकर एक शीशी में रख लें अद्भुत तेल तैयार हो गया।

यह भी पढ़े : मुंह के भीतर छाले (Muh Ke Chale) का आयुर्वेदिक उपचार

★ उपयोग और लाभ :
इस तेल की मालिश करने से सभी प्रकार के वात-विकारों में लाभ मिलता है , केवल 2 मिनट के मालिश से भीषण दर्द में आशातीत लाभ होता है , इसके अलावा पक्षाघात , कमरदर्द , गृध्रसी आदी में अतीव गुणकारी और चोट लगने से उत्पन्न सूजन में भी लाभकारी सिद्ध होता है।

नोट : कृपया अपने आँखों के आस-पास भूलकर भी ना लगाए , मालिश के बाद साबुन से धोकर फिर सरसों के तेल को पंजो में अच्छे से लगा लें।

यह भी पढ़े : गेहूं खाने के 4 औषधीय लाभ

👇🙏👇🙏👇🙏👇🙏👇🙏
सभी भाइयों और बहनों अधिक से अधिक #Whatsapp और #Facebook पर शेयर करें….
👇🙏👇🙏👇🙏👇🙏👇🙏

फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..