फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..

यौन शक्ति में कमी महसूस करने वालो के लिए स्तम्भन-वटी

जो भी व्यक्ति यौन शक्ति में कमी महसूस करते है फिर चाहे वो युवा हो या फिर प्रौढ़ या ये व्यक्ति जो अपनी आत्म शक्ति नहीं रखते हो , या अपनी योनांग में ठीठीलता की कमी महसूस करते हो और साथ ही साथ ज्यादातर उत्साह में कमी महसूस करते हों ऐसे व्यक्तियों को अपने समय का कुछ भाग बचा कर अपना ध्यान यौन के विषय से हटाकर मानसिक रूप से इस विषय में तटस्थं के साथ नियंत्रण में रह कर स्तम्भ वीर्य वटी के नुश्खे का इस्तेमाल करें

यह नुस्खा कुछ ज्यादा नहीं पर थोड़ा महंगा है इसलिए इसे केवल वही व्यक्ति बना सकता है जिसमें इच्छा शक्ति हो | इसे हम बाजार से बना हुआ भी खरीद सकते है

इस नुस्खे की जो बड़ी विशेषता है इसमें किसी भी तरह के मादक द्रव्य की मिलावट नही होने के कारणः यह शीघ्र पतन रोग नष्ट करके ज्यादा से ज्यादा यौन क्षमता को उभारता है

कस्तूरी व् सोने के वर्क १-१ ग्राम
चांदी के वर्क, इलायची, जुन्दे बेदस्तर १० -१० ग्राम
नरकचूर, दुरुनाज अकबरी, बहमन सफेद जटामांसी, लौंग, तेजपात ६-६ ग्राम, पीपल और सोंठ ३-३ ग्राम

निर्माण विधि –

जुन्देबेदस्तर को शहद मे घोंट ले, फिर क्रमश तीनो वर्क और शेष द्रव्यों का कुटा- पीसा महीन चूर्ण मिला ले तथा शहद मिलते हुए तीन घंटे तक खरल में अच्छी तरह घोटे लगाये, फिर इन सबको मिलाकर आधा – आधा ग्राम की गोलियाँ बनाकर छाया में सुखा ले, सुबह- शाम २ – २ गोलियाँ शहद के साथ ले व् ऊपर से दूध पी लें |

लाभ –

यह वटी बाजीकारक नुस्खों में उत्तम और संतोष व लाभ करने वाली औषधि है यह पाचन – क्रिया को बलवान बनाती है और जहाँ हमारे शरीर के रस आदि सातों धातुओं को पुष्ट करके शरीर को शक्ति शाली बनाता है और जो हमारी यौनांग की कमजोरी को भी शक्तिशाली बनाता है और शरीर को कठोरता प्रदान करता है निर्बलता को नष्ट करता है यौन शक्ति प्रदान करता है सबसे अच्छी बात तो ये है जो विवाहित पौरुष होते है अपनी इच्छा शक्ति को खो बैठे है उनके लिए ये बड़ा ही खुश होने वाली बात है की उनको उचित पौरुष बल पर्याप्त हो सकता है साथ ही साथ उचित आहार – विहार पर ध्यान दे , ज्यादा से ज्यादा फल और दूध का सेवन करे। और कम से कम ४० दिनों तक शोधन वटी ‘ १ – १ गोली के साथ इस ‘वीर्य स्तम्भ वटी’ का सेवन करना चाहिए ये दोनों दवाइयाँ हम बनी हुई बाजार से ले सकते है

इसके अलावा आप सफ़ेद मुस्ली , अश्वगंधा और फिर सतावर से तैयार मिश्रण का भी सहारा ले सकते है , औषधि की मात्रा किसी चिकित्सक से सलाह लेकर ही करे क्योकि दवा की कम और अधिक मात्रा दोनों ही लाभ नहीं पहुँचाती है.

यह भी पढ़े:   छोटे लिंग को बड़ा करें इस देसी कामयाब नुस्खे से

कृपया सभी इस पोस्ट को फेसबुक और व्हाट्सप्प पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें …..

फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..