फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..

‘स्किन कैंसर’ के ये हैं लक्षण दिखते ही करें उपचार

कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के कई तरह के लक्षण होते हैं। कई कैंसर ऐसे होते हैं जिन्हे जानकारी होते हुए वक्त रहते ही पहचान लिया जाता है तो वहीं दूसरी तरफ जानकारी के अभाव में वक्त निकल जाता है। इससे पहले कि स्किन कैंसर अपने चरम पर पहुंचे आपको इसके लक्षण जान लेनी चाहिए, धूप से झुलसती त्वचा स्किन कैंसर का शिकार हो सकती है, स्किन कैंसर के होने का कोई एक ही कारण नहीं होता है। सबसे बड़ी बात यह है कि स्किन कैंसर को पहचानने के लिए हमें इसके लक्षण की अच्छी खासी पहचान होनी चाहिए, इसलिए हम आपको बताते हैं स्किन कैंसर के लक्षण..

– स्किन कैंसर का सबसे पहला लक्षण है आपके चेहरे, कान, गर्दन और होंठ में बदलाव होना। इसमें आपकी त्वचा पर कुछ अजीब से निशान बनने लगते हैं। शुरूआत में यह निशान किसी एक जगह पर होते हैं पर धीरे-धीरे यह पूरे शरीर पर फैलने लगते हैं। स्किन कैंसर बहुत तेजी से फैलती है। इसलिए आपको अपने स्किन के हर एक निशान पर गौर करना होगास जरा सी लापरवाही घातक साबित हो सकती है।

-मेलेनोमा स्किन कैंसर बेहद खरतनाक होता है। वैसे तो यह कैंसर कम लोगों को होता है, जबकि जब होता है तो इससे परिणाम भयानक होते हैं। यह स्किन कैंसर मेलेनिन बनाने वाली कोशिकाओं में शुरू होता है, इसलिए कुछ अंतर देखने पर डॉक्टर को दिखाना न भूलें

– चेहरे पर होने वाले मस्से का आकार, उसका रंग भी स्किन कैंसर होने का एक संकेत है। इसके अलावा अगर आप अपने शरीर पर अलग रंग के मस्से देखें तो समझ जाएं कि एक बार डॉक्टर को दिखाने का वक्त आ गया है। सिर्फ मस्सा ही नहीं बल्कि नए उगने वाले मस्से के आसपास की स्किन के बदलाव पर भी गौर करें।

– हो सकता है आपके शरीर पर एक ही मस्सा हो लेकिन अगर आपके शरीर पर मस्सों की संख्या लगातार बढ़ रही है या उसमें से खून बह रहा है तो यह भी स्किन कैंसर की ओर इशारा करता है। इसलिए घबराए नहीं और सावधानी बरतकर डॉक्टर से वक्त रहते चेकअप कराएं।

– जरूर नहीं कि हर मस्सा स्किन कैंसर हो लेकिन स्किन कैंसर मस्से के साइज पर भी डिपेंड करता है, अगर आपकी स्किन पर मौजूद मस्से का साइज 5 या 6 मिलीमीटर से अधिक है तो यह स्किन कैंसर का एक संकेत हो सकता है।

– आमतौर पर मस्से का रंग भूरा होता है, अगर आपके स्किन पर मस्से का कलर भूरा या गुलाबी रंग का है तो घबराने की कोई बात नहीं हैं, लेकिन अगर मस्से का रंग काला, नीला, सफेद या लाल हो तो इसे इग्नोर न करें ऐसा करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

फ्री फेसबुक अपडेट्स के लिए अभी लाइक करें..